Maharashtra Labour Card Benefits 2022 | महाराष्ट लेबर कार्ड के फायदे 2022

दोस्तों आप ने अभी तक लेबर कार्ड नहीं बनवाया तो मैं आपको बता दूँ की महाराष्ट्र की सर्कार ने बहुत साल पहले इसे बन वाने को कहा था और अगर जो आपने अभी तक नहीं बनवाया है तो आपको इस आर्टिकल में एक लिंक मिल जायेगा आपको उससे बहुत सी जानकारी मिल सकती है और आप जान सकते है की आप कैसे अपना महाराष्ट्र लेबर कार्ड बनवा सकते है|

इस आर्टिकल के जरिये आप अपना महाराष्ट्र लेबर कार्ड के फायदे जान सकते है|

योजना का नाममहाराष्ट्र लेबर कार्ड 2022
कार्य फायदे महाराष्ट्र लेबर कार्ड के|
ऑफिसियल पोर्टलhttps://mahabocw.in
ProcessOnline

वैसे तो आप ये जानकारी इन की ऑफिसियल वेबसाइट पर से भी जान सकते है|

महाराष्ट्र लेबर कार्ड के क्या फायदे है?

महाराष्ट्र लेबर कार्ड 2022 के क्या फायदे है? आपको इस योजनों के अंत गिरत तक सारे लाभ इस पुरे आर्टिकल में मिल जायेंगे वो भी आसानी से आपको बस इस आर्टिकल को ध्यान से पढना है |


संत रविदास शिक्षा सहायता योजना: इस योजना के तहत एक परिवार के दो बच्चे इसका लाभ उठा सकते है उससे अधिक वाले नहीं|अगर वह इन्जिन्य्र और मेडिकल की डिग्री पाना चाहते है तो सर्कार उनकी सहायता कर रही है| वह बच्चे इस को बड़े ही आसानी से लाभ उठा सकते है सर्कार उन सभी को ₹8,000 से लेकर ₹12000 तक कि सहायता प्रदान कर रही है|

कक्षा 10 से लेकर 12 तक की सभी बलिकओंन को साईकिल दे रहे है|

पहली कक्षा से लेकर पांचवी कक्षा के सभी छात्र और छात्राए इस से ₹150 प्रतिमाह मिलेगा, छटी कक्षा से लेकर दसवी तक के छात्राओं को ₹200 वो भी प्रतिमाह, कक्षा ग्यारवी से लेकर बार्वी तक के छात्राओं को ₹250 मिलेंगे वो भी प्रतिमाह|


मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना: यदि परिवार में पहली संतान बालिका है या दूसरी संतान भी बालिका है या कानूनी रूप से गोद ली गई बालिका है तो 25,000 रुपये की सावधि जमा। जन्म से विकलांग लड़की के मामले में 50,000 रुपये की सावधि जमा। परिपक्वता राशि केवल तभी देय होगी जब बालिका 18 वर्ष की आयु तक अविवाहित रहती है। शर्त पूरी नहीं करने पर कोई राशि देय नहीं होगी।

संतान के पुत्र होने की स्थिति में एकमुश्त 20,000 रुपये और पुत्री के मामले में 25,000 रुपये प्रति बच्चा देय होगा।

मातृत्व हितलाभ में पंजीकृत पुरुष कामगारों को ₹6,000 एकमुश्त देय।

दिल्ली लेबर कार्ड ऑनलाइन अप्लाई कैसे करे 


मेधावी छात्र पुरस्कार योजना: पुरस्कार की राशि अधिसूचना की तालिका के अनुसार निहित है। कक्षा 6 से शुरू। चालू वर्ग में फेल होने की स्थिति में द्वितीय किश्त की राशि का भुगतान नहीं किया जायेगा।


आवासीय विद्यालय योजना: 06 से 14 वर्ष की आयु के सभी पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के पुत्रों/पुत्रियों के लिए निःशुल्क आवासीय शिक्षा प्रदान किया जायेगा| निःशुल्क आवास, वस्त्र, भोजन एवं अन्य सुविधायें उपलब्ध। राज्य के 12 जिलों में संचालित है यह सभी योजनाये| अटल अय्या विद्यालयों की शुरुआत के बाद, वे उनके साथ विलीन हो गए।


कौशल विकास, तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना: यदि पंजीकृत श्रमिक स्वयं प्रशिक्षण प्राप्त करता है, तो अकुशल श्रमिक को न्यूनतम मजदूरी के बराबर राशि की प्रतिपूर्ति की जाएगी। प्रशिक्षण के बाद, आपको एक मूल्यांकन परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी।


सौर उर्जा सहायता योजना: पंजीकृत निर्माण श्रमिक के स्थायी निवास पर स्थापित किया जाना है। योजना के तहत 02 Piece of LED Bulbs, 01 Piece of DC Table Fan, 01 Piece of Solar Panel, 01 mobile charger, और Charging Controller| आपूर्ति किए गए प्लांट की 5 साल की गारंटी होगी। बोर्ड स्तर पर लंबित संयंत्र चयन/निविदा प्रक्रिया|


कन्या विवाह अनुदान योजना: अंतर्जातीय विवाह की दशा में प्रति पुत्री ₹55,000 तथा पंजीकृत मासिक श्रमिक के स्वयं के विवाह के संबंध में अंतर्जातीय विवाह के मामले में ₹61,000 की अनुदान राशि।

कम से कम 11 जोडे़ के सामूहिक विवाह की दशा में अनुदान राशि ₹65,000 तथा प्रति जोड़े ₹7,000 का आयोजन व्यय भी बोर्ड द्वारा वहन किया जायेगा। साथ ही वर-वधू प्रत्येक की पोशाक हेतु ₹5000 प्रत्येक की दर से अग्रिम भुगतान।

विधवा विवाह और कानूनी विवाह – सामूहिक विवाह के बराबर तलाक के मामलों में देय राशि।


आवास सहायता योजना: इस योजना के तहत ₹1,00,000 निर्धारित मानकों को पूरा करने पर नए घर के निर्माण या खरीद के लिए देय होगा। पहले से उपलब्ध मकान की मरम्मत के लिए ₹15,000 की राशि अनुदान के रूप में प्रदान की जाएगी।

दोनों लाभ एक ही समय में एक ही लाभार्थी को देय नहीं हैं। यह योजना प्रधानमंत्री आवास योजना के मानकों के अनुरूप है।


शौचालय सहायता योजना: आवेदन करने पर 12,000 रुपये की राशि 02 समान किश्तों में देय है। प्रथम किश्त के रूप में प्रोत्साहन अग्रिम के रूप में एवं दूसरी किश्त निर्माण कार्य पूर्ण होने पर एवं शौचालय का प्रयोग प्रारम्भ करने पर जिला पंचायत राज अधिकारी के माध्यम से देय।

जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा पंजीकृत श्रमिकों की सूची से बेसलाइन सर्वे के साथ श्रमिकों का चयन होने के बाद भुगतान जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा लाभार्थी के बैंक खातों में अंतरित किया जायेगा|


चिकित्सा सुविधा योजना: योजना के तहत विवाहित निर्माण श्रमिक को ₹3000 प्रति वर्ष और अविवाहित निर्माण श्रमिक को ₹2000 की राशि सीधे उनके बैंक खाते में बोर्ड द्वारा स्वीकृत की जाएगी।
लाभ केवल पति-पत्नी में से किसी एक को देय होगा।


आपदा राहत सहायता योजना: केंद्र/राज्य सरकार या बोर्ड द्वारा निर्धारित वार्षिक/अर्धवार्षिक/त्रैमासिक/मासिक रूप से अद्यतन पंजीकृत निर्माण श्रमिक को बैंक खातों में ₹1000 रुपये की एकमुश्त राशि देय होगी। वित्तीय सहायता का रूप।


महात्मा गाँधी पेन्शन योजना: मूर्तिमान की मृत्यु दर से ₹1,000 की दर से मजदूर की मौत की दशा में पेंशन की स्थिति भी खराब हो जाएगी। पेनशन राशि में 02 साल बाद 0-50 की बढ़ोतरी, जो बदला 0-1250 तक।
श्रमदान-योगी मानधन योजना में दर्ज किया गया है।


गम्भीर बीमारी सहायता योजना: आयुष्मान भारत योजना के तहत सरकारी/स्वायत्त अस्पतालों या SACHIS के पैनलबद्ध अस्पतालों में किए गए शुल्क पर देय लाभ के बराबर राशि की पूर्ण प्रतिपूर्ति। अस्पताल द्वारा चिकित्सा/शल्य चिकित्सा अनुमान दिए जाने पर अग्रिम राशि का भुगतान अस्पताल को भी किया जा सकता है। कोई अधिकतम राशि निर्धारित नहीं है।


मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना: अन्य पर या अन्य प्रकार की मृत्यु होने पर ₹5,00,000 की धन राशि। मूवी से 01 लाख खाते में भुगतान शेष 04 लाख फ़्री डिपाजिट से निष्क्रिय। स्थायी, स्थायी अपंगता की स्थिति में स्थायी, स्थायी अपंगता में स्थायी, स्थायी अपंगता में 02 लाख देय।

खराब हालत खराब हालत की स्थिति में ₹02 मिलियन की डरी हुई दशा। अस्थाई विभाजन की स्थिति में ₹1,लाख निष्क्रिय।
अपंजीकृत संपत्ति पर संपत्ति पर निर्भर करता है|

खराब या दूसरे रोग के पूर्ण होने पर निष्क्रिय होने तक 1500, 1250, 1000 की पेनशन|

पूरी जानकारी के लिए आपको निचे दिए गए लिंक को क्लिक करना है|


अन्त्येष्टि सहायता योजना: योजना के हिसाब से 25,000 की धनराशि मृतक के आश्रितों को प्रदान की जाती है।


इन सभी का लाभ आप बड़े ही आराम से उठा सकते है उसके लिए आपको अपना लेबर कार्ड को बनवाना होगा| अगर जो आपको भी अपना लेबर कार्ड बनवाना है तो आपको निचे दिए गए बटन को क्लिक करके जान सकते है की आप अपना लेबर कार्ड को कैसे बनाये वो भी आसानी से घर बैठे और ऑनलाइन 2022|

Leave a Comment